धार्मिक

Ravan की 8 ऐसी बाते जो जीवन में बना सकती है सफल!

Ravan

Ravan एक महापंडित था क्युकी उसे वेद , ज्योतिष , योग और तंत्र का ज्ञान था

और वह युद्ध और मायावी कार्यो में निपुण था !

रावण में कमिया होने के साथ साथ बहुत सी अछाईया भी थी

हमें रावण से बहुत कुछ सिखने को भी मिल सकता है !

जानिए Ravan की 8 बाते जो जिंदगी में इंसान को बना सकती है सफल

1) पहली बात जो हमें रावण से सिखने को मिलती है

वो है की शुभ कार्य जितनी जल्दी हो सके उतनी जल्दी कर देना चाहिए और अशुभ को जितना दूर कर सके उतना करे !

2) दूसरी बात अपने शत्रु को कभी भी शोटा नहीं समझना चाहिए

जिस प्रकार रावण ने बानरो को छोटा समझा और उन्होंने रावण की सारी सेना नष्ट कर डाली !

3) कोई भी व्यक्ति तुष् नहीं होता जिस प्रकार रावण ने ब्रह्मा जी से वर माँगा

की मेरा वध मनुष्य और बानरो के इलावा कोई भी न कर सके क्युकी रावण मनुष्य और बानरो को तुष् समझता था !

4) अपनी शक्ति को हमें बढ़ावा देते रहना चाहिए

क्युकी अपनी शक्ति के साथ ही हम धन , ज्ञान और संसार में बहुत सी चीजों को पा सकते है

क्युकी शक्ति इंसान की योग्यता से पैदा होती है ! पर हमें अपनी शक्ति पर घमंड नहीं करना चाहिए !

5) हमें जीवन में खोज और आविष्कार करने चाहिए

कहते है की रावण ने अस्त्र शस्त्र की खोज करता रहता था !

रावण ने तो स्वर्ग तक की सिडिया बनवानी चाही !

6) हमें अपने जीवन में भक्ति को महत्व देना चाहिए

जिस प्रकार रावण शिव का परम् भक्त था

और उसे अपनी भक्ति पर पूर्ण विश्वास था तभी उसे शिव का परम भक्त माना जाता है !

7) अगर हमने किसी कार्य को अपने हाथ में लिया है तो

उसे पूरी लग्न और दृढ़ निश्चय के साथ पूरा करना चाहिए !

यदि हम कोई भी कार्य पूरी लग्न से नहीं करेंगे तो वह कभी भी पूर्ण नहीं होगा !

8) हर व्यक्ति को पुस्तके पड़ने में रूचि रखनी चाहिए

क्युकी पुस्तके हमारी सच्ची मित्र होती है और हमारी बुद्धि को बढ़ाती है
इसी प्रकार रावण ने शिव की स्तुति में लिखा था !

जानिए Ravan की योग्यताओ के बारे में

एक कट्टर शिवभक्त

रावण भगवान शिव का सबसे बड़ा भक्त था एक विद्वान भी था।

कि शिव तांडव स्त्रोत्रम की रचना उसकी भक्ति से प्रसन्न होकर शिव ने उसे अपनी शक्तिशाली तलवार चंद्रहास से दी थी।

कया है दशानन रावण की सबसे बड़ी योग्यता

चार वेदों के विद्वान

रावण ने अपने पिता विश्रवा के संरक्षण में ज्ञान , वेदों, और पवित्र पुस्तकों में महारत हासिल की थी !

रामायण में यह स्पष्ट है कि चाहे मनुष्य हो चाहे असुर कोई भी आम नहीं था, जो साम वेद का एक महान परिवर्तक था।

रावण संहिता लिखी

रावण न केवल एक अच्छा योद्धा था, बल्कि ज्योतिष में एक विद्वान भी था,

उसने ज्योतिष पर एक रावण संहिता लिखी थी। रावण के पास आयुर्वेद का भी गहन ज्ञान था।

उनको वास्तु शास्त्र का भी देवता कहा जाता है !

ravan

एक महान संगीतकार

रावण को पता था कि रागों का ज्ञान एक महान वीणा वादक था। उसे एक वाद्य रावणहत्था का श्रेय दिया जाता है।

ravan

एक उत्कृष्ट योद्धा

यही वह गुण है जिससे उन्होंने सबसे अधिक घमंड किया, वह त्रिलोकाधिपति बन गए,

उसने ने योद्धा के रूप में बहुत से देवो , राक्षशो आदि को हराया !

रावण ने कैलाश पर्वत को भी अपने हाथो से उठा लिया था!

ravan

Conclusion:

ऊपर आप जानिए Ravan की ऐसी बाते जो जीवन में बना सकती है सफल
और रावण की योग्यता के बारे में भी चर्चा हुयी है !

हमें इस में यही पता चलता है की रावण राक्षश जाती में सबसे ज्यादा बल और बूढी वाला राक्षश था !

 

 

Tagged

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *