धार्मिक

2021 Chaitra Navratri | Date | Qoutes in Hindi

Chaitra Navratri

हिन्दू  पंचांग के मुताबिक चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से नवमी तक Chaitra Navratri होते है !

नवरात्र का कालखंड दरसल आस्था और आध्यात्म का कालखंड है !

इस दौरान सिर्फ उपवास भर रखना नहीं होता वह तो साल में हम कभी भी रख सकते है !

साल में दो वार आने वाले नवरात्र के नो दिनों का जो कालखंड है ,

वह व्यापक रूप से धार्मिक व् आध्यात्मिक चिंतन मनन का कालखंड है !

इस दौरान न सिर्फ हमें धार्मिक और आध्यात्मिक दृष्टि  से सात्विक और सकारात्मक मन:

स्थिति में रहना चाहिए बल्कि इस दौरान पूजा , सत्संग और चिंतन की अलग अलग स्थितियों में

समय गुजारना चाइये , जिससे शरीर का ही नहीं , मन का भी उपवास होता है !

Chaitra Navratri क्यों मनाये जाते है ?

Chaitra Navratri चैत्र के महीने में मनाया जातें है और ये नए साल का महीना माना जाता है !

हिन्दू धर्म के अनुसार ये नए साल का महीना होता है !

और सभी हिन्दू धर्म के लोग इस त्यौहार को बहुत हर्ष और  उल्लास से मनाते है !

लोग चैत्र नवरात्र के उत्सव पर व्रत रखते है और नो देवियो की पूजा करते है !

Chaitra Navratri Date(चैत्र नवरात्रे तिथि)

इस बार Chaitra Navratri का पावन त्यौहार 13 अप्रैल 2021 शुरू है !

9 दिन चलने वाला ये नवरात्रो का त्यौहार राम नवमी वाले दिन समाप्त हो जायेगा !

Chaitra Navratri में कैसे करेंगी 9 देवियां कष्ट दूर?

1)शैलपुत्री

maa shailputri

Chaitra Navratri  के पहले दिन माँ शैलपुत्री की पूजा की जाती है शैलपुत्री माता के सवारी गाये है !

माता चन्द्रमा धारण करती है हिन्दू धर्म के अनुसार माँ शेपुत्री के पूजा करने से चंद्र दोष का निवारण होता है !

2)ब्रह्मचारिणी

maa brahmcharni

Chaitra navratre के दूसरे दिन माँ ब्रह्मचारिणी की पूजा की जाती है

माता का यह रूप मंगल ग्रह का स्वामी होता है और इस दिन माता की पूजा करने से मंगल ग्रह दोष का प्रभाव कम पड़ जाता है !

3)चंद्रघंटा

maa chandrganta

Chaitra Navratri  के तीसरे दिन माँ चंद्रघंटा की  पूजा की जाती है

माता को शुक्र ग्रह की देवी मन जाता है और शुक्र दोष का निवारण होता है जनम कुंडली में इस दिन माँ चंद्रघंटा को पूजने से !

4)कुष्मांडा

maa kushmanda

Chaitra Navratri के चौथे दिन माँ कुष्मांडा के पूजा की जाती है !

कुष्मांडा माता की पूजा करने से जिनका सूर्य नीच हो वो उनका सूर्य अच्छा हो जाता है !

5)स्कंदमाता

maa skandmata

Chaitra Navratri के पांचवे दिन माँ स्कंदमाता की पूजा की जाती है !

ये माता बुध ग्रह की देवी है इस दिन पूजा करने से बुध ग्रह की स्थिति सही होती है !

6)कात्यायनी

maa katyani

Chaitra Navratri के छठे दिन माँ कात्यायनी की पूजा होती है !

और माँ को बृहस्पति की स्वामिनी मन जाता है जिससे बृहस्पति की दशा सही होती है !

7)कालरात्रि

maa kaalratri

Chaitra Navratri  के सातवे दिन माँ कालरात्रि की पूजा होती है !

माँ कालरात्रि की पूजा करने से शनि दोष की समाप्ति होती है !

8)महागौरी

mahagori

Chaitra Navratri  के आठवे दिन माँ महागौरी की पूजा होती है और इस दिन माँ की पूजा करने से राहु दोष की समाप्ति होती है !

9)सिद्धिधात्री

sidhidatri

Chaitra Navratri के 9 दिन माँ सिद्धिधात्री की पूजा की जाती है !

और माँ सिद्धिधात्री की पूजा करने से केतु का दोष कुंडली से हट जाते है !

इस प्रकार सभी 9 देवियो की पूजा लोग बहुत उत्साह के साथ करते है ,

और आखिरी नवरात्रे वाले दिन लोग अपने अपने घर में कंजके पूजन भी करते है !

इस दिन लोग अपने घरो में हलवा , पूरी का प्रसाद बनाते है और कंजको को भोग लगते है !

लोग इस दिन कंजको के चरण स्पर्श करकर उनसे देवी का आशीर्वाद भी लेते है !

NOTE: ये 9 देवियों के स्वरूप देवी पार्वती के ही रूप है !

Chaitra Navratri में खेत्री बिजने का महत्व क्या है ?

ये शायद बहुत कम लोग जानते है की नवरात्रे में खेत्री भी बीजते है !

जिसमे हम एक कलश में जो बीजते है कहते है की जब सृष्टि की शुरुआत हुई थी !

तो पहली फसल जो थी इसलिए ये देवी देवताओ को भी अर्पित की जाती है !

उसी तरह बसंत ऋतू की पहली फसल होती है जो हम देवी माता को अर्पण करते है !

और कहा जाता है की जौ उगाने से भविष्य से समबन्दित बातो का भी पता चलता है

यदि खेत्री तेजी से बढ़ते है तो घर में सुख समृद्धि तेजी से बढ़ती है !

अगर जो मुरझाई है और इसकी वृद्धि कम है तो तो भविष्य में अशुभ घटना का संकेत मिलता है !

नवरात्रे में क्या खाए?

नवरात्रो के दौरान हम दूध , दहीं , फल , ड्राई फ्रूट्स, साबूदाने की खिचड़ी या खीर  आदि खा सकते है !

नवरात्रे में क्या ना  खाए?

नवरात्रो में मॉस का सेवन मछली का सेवन , लहुसन , प्याज, शराब आदि का सेवन बिलकुल भी नहीं करना चाहिए !

Chaitra Navratri qoutes in hindi 

navratre quotes

अम्बे वैष्णो रानी ,

सुख करनी दुःख हार ,

सती रूप जगत्तारणी ,

बिश्व की पालनहार ,

शिवा शिवानी तुम ही हो ,

तुम्ही हो गोरी रूप ,

महामाया तेरी माया है ,

जगत की शाया धुप

|| शुभ नवरात्री ||

 

navratre quotes

कदम कदम पर फूल खिले ,

खुशिया आपको इतनी मिलें !

दुःख कभी न आये जिंदगी में तुम्हारी ,

ये दुआ है हमारी !

|| शुभ नवरात्रे ||

navratre quotes

चौंकियाँ भरलो करो चोपहरा ,

जीवन का रंग होगा सुनेहरा !

|| शुभ नवरात्रे ||

navratre quotes

जिसके रूप है अनेक  ,

दुर्गा माता है एक  ,

दर पे उसके जो जाता  ,

कभी न खाली हाथ आता !

|| शुभ नवरात्रे ||

 

Tagged

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *